Posts on Twitter:

: के साथ मुलाकात पर बोले , कोई गिले शिकवे नहीं, सौजन्य भेंट थी




: पूर्व मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद बाहर आए कांग्रेस नेता ने कहा, ये सौजन्य भेंट थी, रात गई और बात गई, चुनावी माहौल में आपसी नोकझोंक हो जाती है लेकिन लोकतंत्र में सरकार के साथ विपक्ष की भी उतनी ही बड़ी भूमिका होती है



Retweet Retweeted Like Liked

: पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मिलने उनके निवास पर पहुंचे कांग्रेस नेता पूर्व केंद्रीय मंत्री कांग्रेस सांसद , करीब आधे घंटे से ज्यादा दोनों नेताओं के बीच बंद कमरे में बातचीत हुई 😋✌️🙄




: पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मिलने उनके निवास पर पहुंचे कांग्रेस नेता , करीब आधे घंटे से ज्यादा दोनों नेताओं के बीच बंद कमरे में बातचीत हुई










के में जो काम नवाब पटौदी नहीं कर पाए क्या वो काम कर सकेंगी ?







वीडियो बनने में हुआ हादसा छिन्वाडा में Bhai kya jrurat thi ese jaan me khelne ki 😠😠😠😠😠










यही तो है... सबसे पुराना पंचांग। Visit Us: For Business Call Us: 09827012206 ,09039267700 Lala Ramswaroop R.C. and Sons . .C



















leader demanded to field for polls from , an erstwhile estate ruled by her husband 's family. Saif's father Mansoor Pataudi had unsuccessfully contested LS election from Bhopal on Cong ticket in 1990s.







: RT DD_NEWSMP: राजधानी स्थित एम्स में पहले दिक्षांत समारोह के आयोजनअवसर पर संस्था के छात्र छात्राओं को किया गया सम्मानित। AIIMSBhopal



Posts on Tumblr:

youtube.com
सवालों के घेरे में मंत्री जयवर्धनसिंह | Jaivardhan Singh | Digvijay Singh | Talented India News
#madhyapradesh #kamalnath #jaivardhansingh“ इंदौर में लगातार नगरीय प्रशासन के क्षेत्र में आ रही शिकायतों के बाद नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह ने खुद इंदौ...

इंदौर में लगातार नगरीय प्रशासन के क्षेत्र में आ रही शिकायतों के बाद नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह ने खुद इंदौर के जनप्रतिनिधियों से मिलकर बैठक ली।बैठक में नगरीय प्रशासन मंत्री ने नगर निेगम के पार्षदों सहित इंदौर के विधायकों और अफसरों से शहर में चल रहे प्रोजेक्ट्स के बारे में वन-टू-वन चर्चा की।

instagram

Children try camera in Atal Ayub Nagar, one of most affected areas. Playing with children always makes me feel calm in otherwise hectic, tensed and emotionally lonely day during such difficult project. Recently I have finished a photo essay about children affected by toxic gas methylisocyanate (MIC) one of the most toxic gasses we have, then and now, spewed from the factory owned by the US chemical giant Union Carbide (UCC) in 1984 in Bhopal, India. This photo project is supported by Pulitzer Center on Crisis Reporting and soon it is going to be published by a major English daily of India.
#children #childrenwithcameras #documentaryphotography #instavideo #unioncarbide #bhopal #whp #bestoftheday #videooftheday #instagram (at Bhopal, Madhya Pradesh)
https://www.instagram.com/p/Bs21hfaHTvh/?utm_source=ig_tumblr_share&igshid=xz0ueqqtkr7z

Made with Instagram
We live in the age of big data but thick data from ethnographic or microeconomic studies can also tell policymakers a lot. It is said that the great development economist Ian Little had an epiphany about the inefficiency of Indian planning while studying an industrial project in Bhopal in the 1960s.
—  Niranjan Rajadhyaksha, ‘Palanpur, a fascinating story of income growth, social change’, Livemint